सुख-दुख का बहुत बड़ा इतिहास लिख कर जा रहा है अगस्त 2019 का महीना
August 26, 2019 • UPMA SHUKLA

आर डी शुक्ला द्वारा  अगस्त 2019 का महीना भारत के लिए सुख दुख का एक नया इतिहास कायम करके इतिहास में लिखा जाएगा इसी महीने 5 अगस्त को 70 वर्षों के बाद कश्मीर से 370 और 335a का संसद में खात्मा किया सारे हिंदुस्तान में खुशी मनाई गई पूरा पाकिस्तान गम में डूब गया ठीक है दिन बाद 6 तारीख को पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ तेजतर्रार नेता सुषमा स्वराज का स्वर्गवास हो गया कश्मीर में पूरी तरह कर्फ्यू लगा वेगी धारा 144 लगा दी गई वहां पर इंटरनेट फोन सेवाएं बंद कर दी गई पूरी तरह विपक्षी नेताओं खासकर अलगाववादियों को नजरबंद कर दिया गया एहतियात के तौर पर जिससे कि कोई बवाल यह लोग ना करवा सके यह साहस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अमित शाह के गृहमंत्री रहते संपन्न हुआ भाजपा बहुत पहले से ही कह रही थी कि कश्मीर से 370 35a धारा समाप्त करनी है लेकिन इतनी बड़ी हिम्मत जुटा पाना शायद उक्त नेताओं के अलावा किसी के बस का नहीं था इस संबंध में पाकिस्तान पूरी तरह बौखला गया युद्ध की बातें करने लगा लेकिन हमारी भारतीय सेना ने सीआरपीएफ ने कश्मीर और सीमा को इस कदर टाइट कर दिया कि महीना बीतने को आ रहा है वहां एक हरकत भी ना कर पाया कोई जहां आए दिन खून खराबा हो रहा था वहां शांति हो गई और तो और अब तिरंगा लहराने लगा जहां अलग झंडा लहराता था इतना बड़ा काम अगस्त के शुरुआत में ही हो गया फिर 15 अगस्त हो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ऐतिहासिक भाषण लाल किले से दिया जनता ने उसी दिन रक्षाबंधन का त्यौहार भी मनाया इस बीच भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली बीमार होकर एम्स में भर्ती हो गए पाकिस्तान ने दुनिया भर में हाय तौबा मचाई संयुक्त राष्ट्र संघ पहुंचा चीन के कंधे पर बैठकर वह भी बेकार साबित हुआ इधर कश्मीर मैं धीरे-धीरे हालात काबू होने लगे जम्मू से लगभग कर्फ्यू हटा दिया गया 20 अगस्त तक काफी कुछ स्थिति सरकार के नियंत्रण में आ गई और पाकिस्तानी सेना की हर हरकत का जवाब हमारी सेना बखूबी देती रही कश्मीर जिस पर पाकिस्तान की नजर थी वहां अब तिरंगा लहराने लगा पूरी तरह भारत का अपना अधिकार था और अब जो बचा कुचा खुराफात वहां हुई भी थी उन चीजों को प्रधानमंत्री ने समाप्त कर दिया तीन तलाक का मामला संसद में पास कर दिया यह सब कार्य अगस्त माह में इतिहास बनते रहे इस बीच देश में जन्माष्टमी मनाई जा रही थी कि फिर एक दुखद घटना घट गई अरुण जेटली जिन्होंने अति मेहनत करके प्रधानमंत्री के पिछले कार्यकाल के समय वित्त मंत्री रहते हुए नोटबंदी करवाई और जीएसटी जैसा कठिन कार्य कर डाला था उनका अचानक निधन हो गया इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी फ्रांस ऑफ बहरीन की यात्रा पर चले गए थे जहां उनको सम्मानित किया गया फिर वह फ्रांस में J7 के के कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे जहां उनकी अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से आज मुलाकात हुई और अच्छी खासी बिंदास मुलाकात हुई पाकिस्तान रहा सहा और पस्त हो गया प्रधानमंत्री ने फ्रांस के राष्ट्रपति से अन्य तमाम राष्ट्रों के राष्ट्रीय अध्यक्षों से मुलाकात की और वार्ता की हां एक बात अवश्य रही क्यों है अपने प्रिय मित्र अरुण जेटली के अंतिम संस्कार में सम्मिलित नहीं हो पाए उनके परिवार वालों नए प्रधानमंत्री को अपना दौरा रद्द ना करने की सलाह दी उस समय वह बहरीन में थे और उनको वहां का सर्वोच्च सम्मान प्रदान किया गया यह सब अगस्त 2019 के महीने में हुआ अब अगस्त का अंतिम 2 दिन और बचा है यह अगस्त का महीना तीन तलाक का खत्म होना कश्मीर से 70 साल बाद या यूं कहिए कि आजादी के बाद पहली बार धारा 370 और 35a का खात्मा किया जाना संसद द्वारा लाल किले से प्रधानमंत्री मोदी जी का ऐतिहासिक भाषण यह तो सब सुखद कार्य थे दुखद में सुषमा स्वराज जी का निधन मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन अरुण जेटली जी का निधन यह सब दुखद घटनाएं भी हुई अभी हमारे प्रधानमंत्री जी फ्रांस में है कश्मीर धीरे धीरे अमन चैन की ओर लौट रहा है वहां पर बवाल कराने के लिए ठीक उस दिन राहुल गांधी जी श्रीनगर पहुंचे अपने 11 विपक्षी दलों और मीडिया के लोगों को लेकर श्रीनगर पहुंचे कि वहां कुछ हरकत करें लेकिन वहां की फोर्स ने उन्हें दूसरे जहाज से वापस कर दिया और मामला टाइट ऑफिस हो गया और सबसे बड़ा काम भ्रष्टाचार के खिलाफ अगस्त के महीने में यह हो गया कि पी चिदंबरम को अदालत में जमानत देने से इनकार कर दिया उनका मामला ईडी और सीबीआई बरसों से देख रही थी उनको हर बार अदालत से जमानत मिल जाया करती थी इसी अगस्त के महीने में जो अदालत उनको बराबर जमानत दे रही थी उसने जमानत देने से इनकार कर दिया हाईकोर्ट ने भी इंकार कर दिया सीबीआई और ईडी ने उनको गिरफ्तार कर लिया सर्वोच्च न्यायालय ने सुनने से इनकार कर दिया उनके इस भ्रष्टाचार के मामले को कोई सुनने को तैयार नहीं हुआ आखिर में उनकी घर से गिरफ्तारी हुई और आज भी वह सीबीआई की हिरासत में है यह भी मामला अगस्त में ही हुआ और अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार बने 70 दिन बीते हैं इतना सब 70 दिनों के भीतर हो गया भ्रष्टाचारी लड़खड़ा गए हैं पाकिस्तान बौखला गया है जबकि अभी तो यह शुरुआत है आगे निश्चित तौर पर बड़े ही काम होने हैं जनता के हित के काम होने हैं लेकिन या अगस्त का महीना भारत के इतिहास में अपना अलग ही स्थान रखेगा क्योंकि जो जो काम इस महीने हो गए वह सब इतिहास लिखने वाले हैं और लिखे जाएंगे अगर इसी तरह मोदी जी की सरकार चलती रही और भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई होती रही तो निश्चित तौर पर  हम नए भारत की तस्वीर आराम से देख सकेंगे