कानपुर कांड का मुख्य अभियुक्त आया पुलिस की गिरफ्त में अब खुलेंगे सनसनीखेज राज आरडी शुक्ला की कलम से
July 10, 2020 • UPMA SHUKLA

 आज कानपुर में हुए पुलिस हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त विकास दुबे मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया वैसे यह उम्मीद बहुत कम थी कि वह जिंदा पकड़ा जाएगा सभी उम्मीद कर रहे थे कि वह निश्चित तौर पर 8 पुलिसकर्मियों को शहीद करने वाला मुठभेड़ में मार दिया जाएगा वह जिंदा नहीं  बचेगा लेकिन भोलेनाथ का खेल देखिए उन्होंने उसको जिंदा उत्तर प्रदेश पुलिस के हवाले कर दिया प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने घटना के बाद प्रदेश पुलिस को 1 सप्ताह का टाइम इस केस को सुलझाने के लिए दिया था और 1 सप्ताह नहीं बीतने पाया मामले का सरगना भी पकड़ गया पूरे गिरोह में शामिल पुलिस के हत्यारों में से अधिकांश को सजा भी मिल रही है और अब तो और आश्चर्यजनक खेल होने जा रहा है जैसा कि मैंने पहले कहा था योगी जी से बौखलाए लोगों द्वारा कराए गए इस सुनियोजित कांड पर से पर्दा उठना ही है और अब भले ही अच्छा ना लगा हो लोगों को विकास का जिंदा पकड़ा जाना लेकिन भगवान की बहुत  असीम कृपा है युवा धोखे से जिंदा पकड़ लिया गया इससे वह सारे राज खुलने जा रहे हैं जो वर्तमान में उत्तर प्रदेश के भीतर बैठकर धन बल के बल पर योगी जैसे ईमानदार मुख्यमंत्री के खिलाफ आपराधिक साजिश रच रहे थे अब विकास हर वह चीज बताएगा जिससे कि प्रदेश में चल रहे अपराधियों और राजनीतिज्ञों खास तौर पर विपक्षियों द्वारा रची जा रही साजिशों का भंडाफोड़ हो जाएगा समय रहते अगर यह जिंदा पकड़ में ना आता तमाम चीजें और संगीन रहस्य इसके मरने के बाद हमेशा के लिए धन हो जाते और विपक्षी सरकार पर योगी जी पर लांछन लगाते ऐसा भगवान ने मौका ही नहीं दिया अब सारा दूध का दूध पानी का पानी पुलिस निकाल लेगी योगी जी सक्षम है मोदी जी सक्षम है कि आखिर कितनी बड़ी योजना बनाई कैसे गई जिसमें 8 पुलिस के जवान शहीद हो गए यह अकेले विकास के बस का काम नहीं है अब पोल खुलेगी पुलिस के भीतर बैठे गद्दारों की अप पोल खुलेगी योगी जी के कार्यों से बौखलाए विपक्षियों की साजिशकर्ता ओं की कोई भी शासक राजा मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री अपने राज्य  मैं इस प्रकार की घटना या दुर्घटना नहीं चाहता वह तो सौभाग्य की बात है 1 सप्ताह के अंदर विकास पुलिस के गिरफ्त में आ गया  उसका पूरा गिरोह एक झटके में समाप्त हो गया  वह जिंदा तो बच गया पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया उत्तर प्रदेश पुलिस की कोई बात नहीं उसको जेल और सजा तो  मिलनी ही मिलनी है योगी जी के राज मैं ही उसको सजा मिलेगी देर है अंधेर नहीं  है तू डाल डाल मैं पात पात सरकार के लिए सर दर्द तो तब तक था जब तक इनका पता नहीं चल रहा था अब वे सरकार के शिकंजे में है कानून के हाथों में है लेकिन इन सब के पीछे कौन हैं कौन लोग हैं जो योगी जी से इतना परेशान है वे अपराधी हैं और सिर्फ अपराधी और नेता है जो इस समय योगी जी से बहुत परेशान है वह किसी भ्रष्टाचारी बेईमान अपराधी को छोड़ना ही नहीं चाहते इसी कारण से पुलिस और जनता सब का ध्यान भटकाने के लिए अपनी ओर से इस तरह के कांड अक्सर अपराधी और नेता मिलकर करवाते रहते हैं जिससे कि असली मुद्दे की ओर असली हर कती लोगों तक पुलिस और सरकार का ध्यान ना जाने पाए या वहां से हट जाए अक्सर इस तरह  की घटनाएं बहुत बड़ी साजिश का अंश हुआ करती हैं यह मामला तो पूरी तरह खुल जाएगा और विकास का  जिंदा पकड़ा जाना सरकार के लिए बहुत लाभदायक सिद्ध  होगा सरकार विरोधी तत्व और अपराधियों का नाम ग्राम यही विकास पुलिस को बताएगा अगर यह मर गया होता तो शायद जो कुछ भी सरकार कहती उसको यह विरोधी नहीं मानते अब सरगना सरकार की गिरफ्त में है सब साफ हो जाएगा हमारी पुलिस अधिकारी नेता और ना जाने कौन-कौन इन सब के पीछे शामिल है उनके चेहरों से नकाब उतर जाएगा एक सच्चे ईमानदार सरकार और कर ही क्या सकती है घटना दुर्घटना तो होती ही रहती है लेकिन उस पर से पर्दा उठना उसके अभियुक्तों का पकड़ा जाना आवश्यक होता है वह तो 1 सप्ताह के भीतर हो गया यह भी एक आश्चर्यजनक सत्य  है  यह तो योगी जी की हिम्मत है कि 1 सप्ताह के भीतर सब मामला खुल गया अब आपको भीतर की कहानी अपने आप मालूम  होती रहेगी लेकिन इस मामले में भी योगी विरोधी लोगों को मुंह की खानी पड़ेगी करोना महामारी फैली है  इस वक्त पर सरकार लोगों की जान बचाने में लगी है सरकार को पुनः  लॉक डाउन करना पड़ रहा है तो दूसरी तरफ इन राक्षसों को भी देखना पढ़ रहा  इन परिस्थितियों में योगी जी जैसा साधु ईमानदार संवेदनशील इंसान जिस तरह से लोगों की सेवा कर रहा है वह लोगों को पच नहीं रहा  लोगों को अपनी राजनीति खत्म दिखाई दे रही है जो सत्य है योगी जी की जय कार के आगे सफल होते नजर आ  रहे हैं और आगे चुनाव में भी फेल होंगे  यह विरोधियों को साफ नजर आ रहा है