लखनऊ कैंट से सुरेश तिवारी की जीत निश्चित
October 16, 2019 • UPMA SHUKLA

प्रदीप दीक्षित द्वारा

आगामी 21 अक्टूबर को होने जा रहे कैंट विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में अब यह निश्चित हो गया है सुरेश तिवारी चुनाव लगभग जीत चुके हैं ऐसा लगता है कि उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वियों को बहुत पीछे छोड़ दिया है सुरेश तिवारी अपने क्षेत्र के प्रत्येक घर और प्रत्येक मतदाताओं से व्यक्तिगत तौर पर हमेशा मिलते हैं और इस बार भी मिल चुके हैं वह एक-एक गलियां 11 सड़के के कोचों में लगातार टहल रहे हैं 24:00 24 घंटे हो मेहनत कर रहे हैं पिछले दो विधानसभा चुनाव से वह लगातार अपने मतदाताओं के संपर्क में हैं उनके हर सुख दुख और उनके कार्यों में उन्होंने सहयोग किया है अजंता उनको सर आंखों पर बैठे हुए हैं वह कतई अपने प्रिय नेता को अपने बीच से होने नहीं देना चाहती वह हर हालत में उनको विधायक बना कर अपना उद्धार चाहती है सभासद पद से लेकर विधायक के पदों तक उन्होंने जिस तरह जनता की सेवा की है वह अनोखी है अभिन्न के क्षेत्र में योगी आदित्यनाथ जी स्वतंत्र देव अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी दिनेश शर्मा सहित प्रदेश के सभी छोटे-बड़े नेता सभा भी कर रहे हैं और व्यक्तिगत तौर पर मिलकर इन को जिताने के लिए जुटे हुए हैं चुकी यह अवध प्रांत के अध्यक्ष रहे इसलिए लखनऊ और आसपास के भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता दिन-रात इनकी विजय के लिए जुटे हुए हैं सड़कों गलियों में कार्यकर्ता हुजूम बनाकर लगातार जुटे हुए हैं एक एक घर में जाकर वहीं के लिए वोट मांग रहे हैं ऐसा लगता है यह इस बार रिकॉर्ड कायम करेंगे वैसे भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के द्वारा धारा 370 और 35a को खत्म किए जाने के बाद कश्मीर की स्थिति जिस तरह सुधर रही है उससे जनता बेहद भारतीय जनता पार्टी से खुश है और वह इस खुशी को प्रदेश के 11 उपचुनाव में तो दिखाएगी ही दिखाएगी साथ ही साथ राजस्थान और हरियाणा में भी प्रणाम भारतीय जनता पार्टी के लिए सुखद होंगे जनता जान रही है कि इस समय देश को नरेंद्र मोदी की जरूरत है और भारतीय जनता पार्टी की जरूरत है अमित शाह की भी जरूरत है इसलिए भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों की जीत ऐतिहासिक होने जा रही है और शायद कोई नया रिकॉर्ड भी बना सकती है वैसे तो चुनाव है अभी कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन जो स्थितियां जनता के आओ भाव से पता चल रहे हैं वाह बहुत अच्छी हैं और देश के लिए भी सुखद है