योगी की पुलिस काल बनकर टूट पड़ी है अपराधियों और माफियाओं के किले ध्वस्त करने में आरडी शुक्ला की कलम से
September 30, 2020 • UPMA SHUKLA

उत्तर प्रदेश में आज योगी जी की पुलिस जिस तरह से आक्रमक होकर अपराधियों और माफियाओं के पीछे काल बनकर पड़ी हुई है इतना ही नहीं प्रदेश भर में बदमाशों से लगातार मुठभेड़ हो रही हैं अपराधी पकड़े जा रहे हैं जेल भेजे जा रहे हैं ठीक दूसरी और अपराधियों और माफियाओं के जबर जनता से वसूली कर बनवाए गए भावनाओं को तोड़ा जा रहा है या यूं कहिए कि उनके किलो को उत्तर प्रदेश पुलिस ध्वस्त कर रही है बुलडोजर द्वारा जब से कानपुर कांड हुआ और 8 पुलिसकर्मी अपराधियों की गोली से मारे गए तब से पुलिस ने यह तय कर लिया कि वह अब अपराधियों को नहीं जीने देगी और हो भी यही रहा है प्रदेश भर में बदमाशों और अपराधियों को खोज खोज कर पुलिस ठिकाने लगा रही है जेल भेज रही है या ऊपर भेज रही है और अगर यह सब इसी तरह चलता रहा तो जल्द ही प्रदेश की अपराधी की स्थिति योगी सरकार के नियंत्रण में होगी जिस तरीके से यह अभियान चलाया जा रहा है उससे ऐसा लगता है कि इस बार अपराधियों को और माफियाओं का बच पाना नामुमकिन है उसका साफ कारण है देश में मोदी जी की सरकार और उत्तर प्रदेश में योगी जी की सरकार योगी जी अपराधियों और माफियाओं को शुरू से बर्दाश्त नहीं कर रहे थे और इसी के चलते जबसे इनकी सरकार आई इन्होंने अपराधियों के खिलाफ हल्ला बोल दिया अपराधियों के खिलाफ अभियान प्रदेश भर में चल रहा था इसी बीच सुनियोजित ढंग से पुलिस का मनोबल गिराने के लिए विपक्षियों ने कानपुर कांड करवा दिया जहां पर हमारे 8 पुलिस के जवान शहीद हो गए उसके बाद से तो योगी जी की पुलिस अकर्मक हो गई और अपराधियों पर माफियाओं पर टूट पड़ी और देखते ही देखते प्रदेश भर में बड़े स्तर पर छापे बाजी और गिरफ्तारियां शुरू कर दी पुलिस ने ऐसा नहीं है कि अपराधी और माफिया कोई हैसियत नहीं रखते लेकिन उनकी यह हैसियत योगी के जी के सामने बेकार साबित हो रही है कारण यह है विपक्ष के साथ मिलकर जितनी योजनाएं भी जिसने षड्यंत्र यह अपराधी और माफिया रच रहे हैं उसका जवाब योगी जी के आदेश अनुसार उत्तर प्रदेश पुलिस उनको जवाब दे रही है कड़े रुको अपनाते हुए पुलिस ने ऐसी रणनीति बनाई है जिससे अपराधियों के आर्थिक स्रोतों को भी तोड़ दिया जाए और वही कार्यवाही प्रदेश पुलिस लगातार हर जिले में अपराधियों और माफियाओं के आर्थिक ठिकानों पर हमला बोलकर के कर कर रही रही है आज हालत यह हो गई है बड़े-बड़े नामी-गरामी माफिया बदमाश या तो प्रदेश छोड़कर भाग गए हैं या फिर जेलों के अंदर पड़े है वर्तमान में यो जो स्थिति अपराधियों और माफियाओं की हो गई है उससे तो यही लगता है कि पिछले 30 40 सालों में उनके द्वारा जनता को लूट लूट कर खड़े किए गए महाल किलो को अब ज्यादा दिन नहीं रहना है रहना है मैं तो लगभग सन 1975 से अपराधिक गतिविधियों पर लगातार नजर रखे हुए हैं सन 1980 से स्वतंत्र भारत समाचार पत्र में क्राइम रिपोर्टर के पद पर कार्य कर रहा हूं और तब से लगातार इन अपराधियों और माफियाओं को मिलने वाले राजनीतिक संरक्षण को देखता आया हूं यह अपराधी और माफिया राजनीतिक शरण के चलते आज तक फलते फूलते आए इन्होंने दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की की इमानदार शरीफ लोगों को इन्होंने प्रताड़ित किया सरकार का धन वसूला और साथ-साथ जनता से रंगदारी वसूली बहुत ही सरकारें आई मेरे समझ में कांग्रेश तो थी ही आजादी के बाद से फिर आई समाजवादी पार्टी फिर आई बहुजन समाज पार्टी सबने जाति धर्म के हिसाब से आंकड़े बैठा ले और अपराधियों को महिमामंडित कर दिया तमाम को विधायक और सांसद बना दिया उनके संरक्षण में अपराधियों का और माफियाओं का खेल प्रदेश में खुलेआम शुरू हो गया जो अपराधी पुलिस देखकर भागते थे वह राशि आसन पर बैठने लगे इमानदार शरीफ लोग किनारे होते चले गए बदमाश अपराधी हावी होते चले गए उन पर हर व्यवसाय में हर क्षेत्र में अपराधियों और माफियाओं का कब्जा हो गया 7580 सन से शुरू हुआ अपराधियों का यह दौर इतना तेज रफ्तार पकड़ने लगा कि लगभग पूरे प्रदेश को इन लोगों ने अपने कब्जे में ले लिया इन से पार पाने वाला कोई नहीं था पुलिस भी इनके सामने हाथ खड़ा कर देती थी हम लोग गवाह हैं किनके पाव प्रदेश में इस तरह जम गए कि बिना इनके आशीर्वाद के ना कोई राजनीति कर सकता है ना व्यवसाय अचानक सन 2014 में नरेंद्र मोदी जी भारत के प्रधानमंत्री बन गए उन्होंने दिल्ली में कमान संभाली उसके कुछ समय बाद ही 2017 में योगी जी ने उत्तर प्रदेश की कमान संभाली एक भगवाधारी योगी उत्तर प्रदेश की कमान मिलते ही प्रदेश में जंगलरज की स्थापना जो पिछली सरकारों ने कर दी थी उसको योगी जी ने उखाड़ना शुरू किया सबसे पहला कार्य उन्होंने प्रयागराज में भव्य कुंभ और दिव्य कुंभ का ऐसा सुंदर आयोजन किया कि करोड़ों लोग बिना किसी असुविधा के संगम में स्नान करके संतुष्ट हुए उनका मोदी जी और योगी जी को ऐसा आशीर्वाद मिला कि 2019 में फिर मोदी जी स्थापित हो गए दूसरी तरफ योगी जी ने प्रदेश के विकास के लिए अपना पूरा समय लगाना शुरू कर दिया वैसे तो 2017 में जब उनकी नियुक्ति निश्चित हो रही थी उस समय मैं भी लोग भवन में मौजूद था जिओ ही पता चला योगी आदित्यनाथ जी प्रदेश के मुख्यमंत्री बन गए हैं उसी समय अंदाजा लग गया था कि अब राजसत्ता पर धर्म शतक काबिज हो गई निश्चित तौर पर बड़ा परिवर्तन हो गया और यह आभास हो गया था यह प्रदेश सही नेतृत्व के हाथों में है उसका परिणाम ही हुआ संगम स्नान करवाने के बाद योगी जी प्रदेश के विकास कार्यों और हर विभाग की समीक्षा में रात दिन जुड़ गए धीरे-धीरे उन्होंने सबसे पहले भ्रष्टाचारियों का अंत किया फिर उन्होंने अपराधियों और माफियाओं पर शिकंजा कसा जो आज तक जारी है कहीं पर उन्होंने किसी तरह की प्रशासनिक ढील नहीं दी पुलिस को खुली छूट दी कि वह दंड पाए या अपराधियों का अंत करें चौतरफा भ्रष्टाचार पर हुए हमले से परेशान भ्रष्टाचारी विपक्ष को साध कर तरह-तरह के हथकंडे करने लगे और अपराधिक षड्यंत्र करने लगे लेकिन योगी के सामने उनकी एक न चली दोबारा मोदी सरकार आने के बाद दिल्ली में भी कड़े कदम राष्ट्रीय स्तर पर उठाने शुरू किए तो योगी जी ने प्रदेश स्तर पर बेरोजगारी समाप्त करने किसानों गरीबों मजदूरों को राहत दिलाने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य शुरू कर दिया इसी बीच मार्च में करो ना बीमारी का प्रकोप शुरू हुआ और उससे बिना विचलित हुए लाखों लाख श्रमिकों को अपने गंतव्य तक पहुंचाने का कार्य किया कहीं कोई अपनी घटना नहीं होने पाई इतनी समझदारी और सूझबूझ से काम करते रहे किला डाउन में जहां प्रदेश की जनता का सहयोग योगी जी के साथ रहा वहीं पुलिस और जनता ने मिलकर इस महामारी के दौर में एक नया इतिहास रच डाला इतना करीब आ गई योगी जी के काल में शांति से निपट गया अब विपक्षियों को योगी जी के खिलाफ कुछ भी नहीं मिला तो आखिर वह क्या करते उन्होंने अपराधियों के खिलाफ योगी जी द्वारा चलाए जा रहे अभियान को रोकने के उद्देश्य कानपुर कांड और ऐसे छुटपुट तमाम कांड करवा दिए लेकिन उनका यह प्रयास भी असफल रहा और योगी जी का और उत्तर प्रदेश पुलिस का अपराधी और माफिया विरोधी अभियान और तेज हो गया और वह आज तक इस स्थिति में पहुंच गया कि अपराधियों और माफियाओं का साम्राज्य पुलिस लगभग समाप्त करने के करीब पहुंच गई है आजादी के बाद से ऐसा अभियान कभी नहीं चला और ना ही कोई मुख्यमंत्री इसकी हिम्मत कर सका हां कल्याण सिंह इन्हें एक बार कोशिश की थी लेकिन वह ज्यादा दिन रुक ना पाए योगी जी ने बहुमत की सरकार पाई और माफिया और अपराधियों को लगभग तबाह कर दिया जो बचे हैं उन की उल्टी गिनती शुरू हो गई है योगी जी लगातार ऐसे कार्य कर रहे हैं इससे जनता उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर जुटी है विपक्षी अपने अपराधियों और माफियाओं को बचाने के लिए पूरी जान लगाए हुए हैं लेकिन उनकी एक नहीं चल रही है उनके साथ 50 100 आदमी खड़े होने वाले प्रदेश में नहीं मिल रहे हैं यह कोई दिखावटी बात नहीं सच्ची बात है आज प्रदेश फिल्म सिटी बनाने जा रहा है डिफेंस कॉरिडोर बनाने जा रहा है विदेशी तमाम कंपनियां यहां आ रही हैं ऐसे में तरह तरह से यहां के हालात बिगड़ने की कोशिश की जा रही है लेकिन इससे योगी महाराज कतई विचलित होने वाले नहीं इसका जमकर सामना कर रहे हैं और अगले कुछ समय में हमारा यह उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश कहलाएगा वैसे भी पूरे भारत में योगी जी की ख्याति और उनके कार्यों की सराहना हो रही है विदेशी नहीं विदेश तक अपना नाम कमा चुके हैं सिर्फ अपने कार्यों क बदौलत यही नहीं भाग्य देखिए दिव्य कुंभ करने वाले योगी जी को ही अवसर मिला कि उन्होंने अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर की शिला पूजन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के हाथों से करवाया सर क्यों साल पुराना आया द्वंद उनके हाथों से खत्म हुआ ऐसा सौभाग्य किसी किसी को मिलता है आज उत्तर प्रदेश विकास की चेन्नई दिशाओं को लिख रहा है उसमें चारों ओर बन रहे एक्सप्रेस वे आने वाले समय में एक ऐसा उत्तर प्रदेश बनाएंगे जो देश का सर्वोच्च प्रदेश होगा क्रमश